1 जून 2015

यादवों की अति विश्वसनीयता !

आज मन में आया की यादवों की कौन सी ऎसी कमी है जो सबको उसका दुश्मन बना देती है ; अति विश्वसनीयता !

राजनैतिक रूप से यादव की सफलता के बाद वह क्यों असफल होता है जबकि जनोपयोगी कार्यों में वो  सारा समय लगा देता है !

उसके साथ जो होता है वही उसका दुश्मन होता है।  

कोई टिप्पणी नहीं:

समर्थक