19 दिस॰ 2009



भय मुक्त समाज का एक और संहार 

जय प्रकाश यादव  की हत्या-

Dec 18, 11:37 pm

महराजगंज (जौनपुर)। युवा ठेकेदार जय प्रकाश यादव की हत्या को लेकर क्षेत्र में दहशत व गम का माहौल है। इस मामले को लेकर सपा नेताओं का देर रात तक घटना स्थल व गांव में जमघट लगा रहा। इस मामले में दो अज्ञात बदमाशों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।
गुरुवार की रात करीब पौने 8 बजे ठेकेदार जय प्रकाश यादव की हत्या बदमाशों ने कोल्हुआ में गोली मारकर कर दी। इस मामले की सूचना पर अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण दिनेश चन्द रात में ही मौके पर पहुंच गये। वहीं पूर्व सांसद पारसनाथ यादव व पूर्व विधायक लाल बहादुर यादव समेत तमाम लोग पहुंच गये। घटना के विरोध में स्थानीय बाजार व रामनगर में दुकानें, बैंक, पोस्ट आफिस, ब्लाक कार्यालय एवं बाजार में सन्नाटा पसरा रहा।
शुक्रवार को सुबह सात बजे ही सपा कार्यकर्ताओं ने महराजगंज बाजार स्थित शिक्षण संस्थान बंद करा दिया। यूनियन बैंक का गेट खुलते ही सपाइयों ने बंद करा दिया। लोग चाय-पान के लिए तरसते रहे। मृतक के घर पर सुबह से ही भीड़ जमा रही।
उधर रात में ही घटना स्थल पुलिस छावनी में तब्दील हो गया था। मौके पर महराजगंज, सुजानगंज, मुंगराबादशाहपुर, मछलीशहर, सिकरारा थानाध्यक्ष मौके पर पहुंच गये। वहीं पर पूर्व सांसद पारसनाथ यादव, लाल बहादुर यादव ने अपर पुलिस अधीक्षक दिनेश चन्द से वार्ता करने के बाद शव थाने पर ले जाने दिया। जय प्रकाश के पिता सरजू प्रसाद की तहरीर पर अज्ञात दो लोगों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दिया। घटना स्थल पर पहुंची गड़वारा विधायक सीमा द्विवेदी ने भी शोक संवेदना जतायी।
मौत के बाद वृद्ध पिता, माता व विधवा भाभी, पत्नी, पुत्र, पुत्री, भतीजी गम के माहौल में हैं। उनका सहारा भी छिन गया है।
-----इनसेट------
राजनीतिक संरक्षण प्राप्त अपराधियों ने की हत्या
महराजगंज : पूर्व सांसद पारसनाथ यादव का कहना है कि जय प्रकाश की हत्या अपराधियों के बढ़े हुए मनोबल और प्रशासन, पुलिस व राजनेताओं द्वारा अपराधियों को संरक्षण देने के चलते हुई है। राजनैतिक संरक्षण प्राप्त अपराधी खुले आम आतंक पैदा कर रहे हैं। कहीं कोई भी व्यक्ति इस शासन में सुरक्षित नहीं है।
वहीं पूर्व विधायक लाल बहादुर यादव इसे अराजक तत्वों का खेल मानते हैं।
गड़वारा विधायक सीमा द्विवेदी ने इस जघन्य हत्याकाण्ड की निन्दा करते हुए पुलिस से जल्द हत्यारे को पकड़ने के लिए कहा।
-----इनसेट-----
परिवार का इकलौता पूत समाया काल के गाल में
महराजगंज (जौनपुर): आज के दो दशक पूर्व बड़े भाई की मृत्यु के बाद जय प्रकाश के ही कन्धे पर पूरे परिवार का भार आ गया था। पहले गाड़ी चलाकर किसी तरह परिवार का जीविकोपार्जन करता था। बाद में अपनी मेहनत के बल पर वाहन मालिक बन गया। माली हालत सुधरी तो छह माह से वह सरकारी निर्माण में गिंट्टी की आपूर्ति का काम भी करने लगा था। व्यवहार कुशलता के बल पर व्यापार भी ठीक-ठाक चल रहा था। लेकिन इसी बीच परिवार के इकलौते कमाऊ पूत की हत्या हो जाने से पूरे परिवार के सामने संकट खड़ा हो गया है

चौकी में घुस विधायक के भतीजे ने पीटा सिपाही

Jul 17, 12:47 am
आगरा। चाचा की विधायकी के नशे में चूर ग्राम प्रधान भतीजे ने जमकर गुंडई दिखाई। साथियों के साथ पुलिस चौकी में घुसकर एक सिपाही को बुरी तरह पीटा। सत्ता की दहशत के चलते वर्दी वालों में भगदड़ मच गई। लगभग आधा घंटे तक चौकी पर गुंडई हुई। सिकंदरा एसओ फोर्स लेकर पहुंचे, लेकिन तब तक सब जा चुके थे। इसके बाद बसपा विधायक भी मौके पर पहुंच गए।
शुक्रवार शाम 7.30 बजे बसपा विधायक सूरज पाल का भतीजा ग्राम प्रधान अकबरा धर्मपाल सिंह अपने पांच दर्जन लोगों के साथ चौकी पहुंचा। वहां पहुंचते ही सिपाही अवधेश यादव को पूछा। उसके सामने दिखते ही लात-घूंसे बरसाना शुरू कर दिए, जिससे अफरा-तफरी मच गई। चौकी में मौजूद एक दरोगा और पांच सिपाही भाग निकले।
बताया गया है कि दो दिन पूर्व विरोला शू फैक्ट्री पर हंगामे के दौरान एक दूधिए को सिपाही ने हटाया था, जिस पर उसने प्रधान की धमकी देते हुए मोबाइल पर बात करने को कहा। लेकिन सिपाही ने बात करने से इंकार कर दिया। यह बात ग्राम प्रधान को इस कदर चुभी कि नशे में चौकी पर हंगामा बरपा दिया।
घटना की सूचना मिलने पर एसओ सिकंदरा आरके शर्मा मौके पर पहुंच गये, लेकिन तब तक प्रधान और उसके समर्थक मौके से जा चुके थे। घटना की जानकारी मिलने पर विधायक सूरज पाल चौकी पहुंच गए। इसके बाद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने के बजाए मामला टाल दिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

समर्थक