11/11/2011

गौर के तो पीछे ही पडं गया है मिडिया -

गौर ने दी सफाई

Nov 09, 11:59 pm
भोपाल, जागरण ब्यूरो। सिक्खों एवं दलितों के बारे में अपनी विवादास्पद टिप्पणियों के कारण चौतरफा आलोचनाओं में घिरे नगरीय प्रशासन मंत्री बाबूलाल गौर बुधवार को अपनी बात से न सिर्फ पलट गए बल्कि उन्होंने यह भी समझाया कि वास्तव में उन्होंने कहा क्या था।
पार्टी के भीतर व बाहर से गौर पर जो दबाव बना, उसका नतीजा बुधवार शाम होते-होते सामने आ गया। उन्होंने एक बयान में सफाई देते हुए कहा कि सोमवार को भोपाल में यादव समाज द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मैंने किसी संप्रदाय विशेष पर कोई टिप्पणी नहीं की थी। मैंने यह कहा था कि कम संख्या वाले सिक्ख समुदाय ने अपने शौर्य, वीरता एवं संगठन के माध्यम से अपने आपको सभी क्षेत्रों में आगे रखा है। इसी प्रकार ब्राह्मण समाज के होने के बावजूद भी बिंदेश्वरी पाठक ने सुलभ इंटरनेशनल संस्था के माध्यम से देश में बड़ी संख्या में कम लागत के सुलभ शौचालयों का निर्माण कराकर देश में ही नहीं वरन् समूचे विश्व में सम्मान पाया है।
गौर ने कहा कि उपरोक्त उदाहरणों के आधार पर उन्होंने यादव समाज के लोगों से आग्रह किया था कि वे उक्त समुदायों एवं व्यक्तियों से प्रेरणा लेकर लगन एवं संगठित होकर अपने समाज को गौरवपूर्ण स्थान दिलाएं। उन्होंने कहा है कि मैंने अपने वक्तव्य में किसी व्यक्ति एवं समुदाय विशेष की आलोचना संबंधी कोई बात नहीं कही। गौर ने कहा है कि उनकी देश की लोकतंत्रात्मक व्यवस्था में पूर्ण आस्था है और वे देश के सभी नागरिकों एवं समुदायों का पूर्ण सम्मान करते हैं।

गौर पर बरसी कांग्रेस, मंत्री को कुर्सी से हटाने की मांग

Nov 09, 12:21 am
भोपाल, जागरण ब्यूरो। कांग्रेस ने विवादास्पद बयानों के लिए नगरीय प्रशासन मंत्री बाबूलाल गौर को मंत्री पद से हटाने की मांग की है। पार्टी अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ने कहा कि भाजपा सरकार के मंत्री एक के बाद एक सत्ता के मद में चूर होकर बहकने लगे हैं।
भूरिया ने मंगलवार को अपनी प्रतिक्रिया में कहा, गौर ने देश की सुरक्षा एवं प्रगति में सिक्ख समुदाय के अतुलनीय तथा ऐतिहासिक योगदान को नकारते हुए जिस तरह प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह को निशाना बनाया है, वह सिद्ध करता है कि गौर अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं। ऐसी स्थिति में उनका मंत्री बने रहना देश की एकता के हित में नहीं है। गौर यदि विभिन्न समुदायों पर इसी तरह नाहक हमला करते रहे तो प्रदेश का सामाजिक और सांप्रदायिक सौहार्द भी खतरे में पड़ सकता है।
उधर गौर के बयान के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने टीटीनगर पुलिस थाने जाकर शिकायत दर्ज कराने की कोशिश की। पार्टी के मीडिया विभाग के अध्यक्ष मानक अग्रवाल, प्रदेश महामंत्री सुनील सूद, शहर अध्यक्ष पीसी शर्मा व नगर निगम अध्यक्ष कैलाश मिश्रा सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने कहा कि पुलिस केस दर्ज करने वाली थी मगर उच्च स्तर से फोन आने के बाद मामला दर्ज नहीं किया गया। उनका आरोप था कि गौर के बयानों को मुख्यमंत्री का मौन समर्थन है।

पिछड़ों के साथ है सरकार: शिवराज

Nov 08, 12:21 am
भोपाल, जागरण संवाददाता। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश सरकार आम आदमी की सरकार है। जो पिछड़े हैं, सरकार उनके कल्याण में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगी। सरकार ने विकास के अनेक कार्यक्रम एवं योजनाएं बनाई है।
मुख्यमंत्री ने यह बात सोमवार को स्थानीय रविंद्र भवन में आयोजित अखिल भारत वर्षीय यादव महासभा की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में कही।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने समाज की विभूतियों को सम्मानित भी किया।
उन्होंने कहा कि यादव समाज उनका समाज है। समाज का सम्मान उनका मान है। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित यादव समाज की विभूतियों के साथ उनकी स्मृतियों का स्मरण किया। इससे पहले मुख्यमंत्री चौहान ने राज्य की ओर से अखिल भारत वर्षीय यादव महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व सासद उदय प्रतापसिंह यादव का स्वागत एवं सम्मान किया।
इस अवसर पर नगरीय विकास एवं प्रशासन मंत्री बाबूलाल गौर, महापौर कृष्णा गौर, विधायक राव देशराज सिंह यादव, विधायक राव राजकुमार सिंह यादव, विधायक अजय यादव, विधायक ललिता यादव, सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश एनएस राव, अखिल भारतवर्षीय यादव महासभा के प्रधान महासचिव सत्य प्रकाश सिंह यादव, उपाध्यक्ष केसी यादव, प्रदेश अध्यक्ष नवाबसिंह यादव, कुंदनलाल यादव, गौरी यादव, महासभा के पदाधिकारी व समाज के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

समर्थक