24 मार्च 2012

अब मेरठ का होगा कायाकल्प !

मेरठ-दिल्ली की दूरी एक घंटे में पूरी होगी
(दैनिक जागरण से साभार)
Mar 24, 02:08 am
मेरठ, जागरण संवाददाता : नए कमिश्नर संतोष कुमार यादव ने शुक्रवार को कार्यभार ग्रहण कर लिया। उन्होंने कहा, मेरठ की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार कराना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी। एनसीआर प्लानिंग बोर्ड में एडीशनल कमिश्नर रहते उन्होंने साढे़ चार हजार करोड़ के प्रोजेक्ट तैयार कराये थे। अब उन्हें वास्तविक धरातल पर उतारा जायेगा। इसके बाद मेरठ से दिल्ली की दूरी एक घंटे में पूरी होगी।
आयुक्त कैंप कार्यालय पर भुवनेश कुमार ने संतोष कुमार यादव को कमिश्नर का चार्ज सौंपा। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में यादव ने कहा, वह आसपास के जिलों में डीएम, सीडीओ रह चुके हैं, इसलिए इस क्षेत्र की समस्याओं से भली-भांति परिचित हैं। ट्रैफिक यहां की सबसे बड़ी समस्या है। इसके लिए कई योजनाएं भी पाइप लाइन में हैं। उन पर अमल कराकर व्यवस्था में सुधार कराएंगे। दिल्ली-मेरठ के बीच यूपी गेट से गाजियाबाद तक स्थिति ठीक है, लेकिन वहां से मोदीनगर के बीच ज्यादा दिक्कतें हैं। ये दिक्कतें दूर कर दिल्ली-मेरठ के बीच की दूरी कम कराएंगे। उन्होंने कहा, भुवनेश कुमार ने मंडल के विकास के लिए कई प्रोजेक्ट तैयार कराये हैं, उन्हें पूरा कराया जायेगा। विकास योजनाओं को समयबद्ध तरीके से पारदर्शिता के साथ पूरा कराएंगे। उनका लाभ पात्रों तक पहुंचाएंगे। कानून व्यवस्था मजबूत बनाएंगे। जनसमस्याओं का तेजी से निस्तारण होगा। भ्रष्टाचार के खिलाफ पहले से जारी उनकी मुहिम जारी रहेगी। भ्रष्टाचार किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं होगा।
इसके बाद उन्होंने कमिश्नरी कार्यालय पहुंचकर मंडल के जिलाधिकारियों, पुलिस और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के साथ परिचय बैठक की। अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। इस मौके पर भुवनेश कुमार, डीएम विकास गोठलवाल, डीआइजी हरिराम शर्मा के अलावा कई अधिकारी मौजूद रहे।
अमर उजाला से साभार 

जाम से मुक्ति दिलाना पहली प्राथमिकता : संतोष यादव

Story Update : Saturday, March 24, 2012    1:29 AM
मेरठ। नए मंडलायुक्त संतोष यादव ने शुक्रवार को कार्यभार संभाल लिया। अपनी प्राथमिकता गिनाते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली-मेरठ राजमार्ग पर जाम से मुक्ति दिलाना हमारी पहली प्राथमिकता होगी। एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से विकास का पैसा दिलवाने की कोशिश करेंगे।
1995 बैच के आईएएस अधिकारी संतोष कुमार यादव ने अपने बैचमेट रहे भुवनेश कुमार से आयुक्त कैंप कार्यभार ग्रहण किया। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि मेरठ मंडल के तीन जिलों में वे लंबे समय तक रहे हैं। दो साल बुलंदशहर सीडीओ, पौने तीन साल गाजियाबाद डीएम और दो साल गौतमबुद्धनगर डीएम रहे। एनसीआर प्लानिंग बोर्ड के एडिशनल कमिश्नर रह चुके हैं। इसलिए मंडल की समस्याओं से अच्छी तरह वाकिफ हैं। उनकी पहली कोशिश जाम से मुक्ति दिलवाना है। दिल्ली-मेरठ, दिल्ली हापुड़, दिल्ली खुर्जा मार्ग के चौड़ीकरण का प्रस्ताव एनसीआर प्लानिंग बोर्ड के पास है। बोर्ड से करीब साढ़े चार हजार करोड़ रुपये दिलवाने की कोशिश होगी।
उन्होंने कहा कि दिल्ली से मेरठ की तरफ आने पर यूपी बार्डर से मोदीनगर तक जाम से जूझना पड़ता है। मेरठ में भी ट्रैफिक का काम बाकी है। इसलिए मेरी पहली प्राथमिकता ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार लाकर जाम से मुक्ति दिलवाना होगी। उन्होंने कहा कि मेरे बैचमेट भुवनेश कुमार ने इस दिशा में काफी काम किया है। वे उनके काम को आगे बढ़ाएंगे। उनकी कोशिश होगी कि एक घंटे में लोग मेरठ से दिल्ली पहुंच जाएं।

कोई टिप्पणी नहीं:

समर्थक