30 अग॰ 2012

क्या हो गया है इन कांग्रेसियों को -

(मोदी का बयांन  बिलकुल वाजिब है उन्होंने लड़कियों का सच कहा है, इन ना समझ कांग्रेसियों की तरह वेवकूफी की हर बात नहीं कही है 'आज लड़कियाँ जिस दौर में जी रहीं है वहां खूबसूरती एक विकल्प है' अतः मोदी की चिंता जायज है)
जागरण से साभार -

महिलाओं पर टिप्पणी के बाद विवादों में मोदी


Aug 30, 05:17 pm

नई दिल्ली। गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर विवादों में घिर गए है। अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल को दिए एक इंटरव्यू के दौरान नरेंद्र मोदी ने कुपोषण की वजह उन लड़कियों को बताया है, जिन्हें कथित तौर पर सेहत से ज्यादा अपनी सुंदरता की चिंता सताती है। उनके इस बयान पर सूचना एवं प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी ने कड़ी आपत्ति जताते हुए अपनी गलतियों को छुपाने वाला बचकानी हरकत करार दिया है।
अंबिका सोनी ने संसद के बाहर पत्रकारों द्वारा इस संबंध में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री जहां अपने आप को एक अच्छा प्रशासक बताते है वहीं दूसरी ओर महिलाओं के प्रति इस तरह से बचकानी बयान देते है। उन्होंने कहा कि उनके मंत्रिमंडल में शामिल कुछ मंत्रियों के उपर बेहद गंभीर आरोप लगे है और इसके बावजूद मुख्यमंत्री इस तरह के मामलों पर अपनी राय जाहिर कर रहे है।
अंबिका सोनी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने उन महिलाओं का अपमान किया है जिन्होंने परिवार की खातिर अपने स्वास्थ्य की चिंता नहीं की एवं परिवार के अन्य सदस्यों के लिए अपने खाने-पीने पर ज्यादा ध्यान देना उचित नहीं समझती है।
महिला एवं बाल विकास मंत्री कृष्णा तीरथ ने भी नरेंद्र मोदी के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह मात्र ज्ञान के अभाव को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि सिर्फ ज्ञान के अभाव में ही कोई महिलाओं के स्वास्थ्य के प्रति अन्यथा सोच सकता है।
कांग्रेसी सांसद गिरीजा व्यास ने भी मोदी के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए इसे तुरंत वापस लेने की मांग की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने महिलाओं के कुपोषण जैसे गंभीर विषय का मजाक बनाया है और लड़कियां अगर अपने सुदंरता को लेकर गंभीर है तो इसमें बुराई क्या है।
वहीं, एनसीपी नेता तारीक अनवर ने मोदी के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री ने अपनी जिम्मेदारियों को छुपाने का प्रयास करते हुए इस तरह का बयान दिया है एवं इस तरह का बयान मुख्यमंत्री की ओर से देने को कहीं से उचित नहीं ठहराया जा सकता है।
राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने इस पर तल्ख टिप्पणी करते हुए नरेंद्र मोदी से इस्तीफे की मांग की है।
हालांकि भाजपा प्रवक्ता प्रकाश जावडेकर ने इस मामले में गुजरात के मुख्यमंत्री का बचाव करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी से कांग्रेस हमेशा से डरी रहती है। यही वजह है कि मात्र नरेंद्र मोदी का नाम आने के बाद कांग्रेसी नेता उनपर हमला बोल देते है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी से भय खाने वाली कांग्रेस को जब भी मौका मिलता है वो गैर राजनीतिक मुद्दों पर भी उनके विरूद्ध प्रतिक्रिया देने से बाज नहीं आती है।
उल्लेखनीय है कि इंटरव्यू में नरेंद्र मोदी से गुजरात में कुपोषण के बारे में पूछा गया, तो नरेंद्र मोदी ने इसे मिडिल क्लास की तरफ मोड़ दिया। मोदी ने कहा कि गुजरात मूलत: शाकाहारी राच्य है और मिडिल क्लास भी। नरेंद्र मोदी ने कहा कि मध्यवर्ग को सेहत की कम, सुंदरता की ज्यादा फिक्र है और यह एक बड़ी चुनौती है। अगर मा अपनी बेटी को दूध पीने के लिए बोले, तो उनमें झगड़ा हो जाएगा। बेटी, मा से कहती है, दूध नहीं पियूंगी, वरना मोटी हो जाऊंगी। यह सवाल उन ताजा आकड़ों की पृष्ठभूमि में पूछा गया था, जिनके मुताबिक गुजरात में पाच साल की उम्र के करीब आधे बच्चे कुपोषण के शिकार हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

समर्थक