21/04/2012

सरकार को घेरेंगे


सरकार को मिलकर घेरेंगे अन्ना व रामदेव

Apr 20, 03:45 pm
गुड़गांव [जासं]। भ्रष्टाचार के खिलाफ अब अन्ना हजारे और बाबा रामदेव कदम से कदम मिलाकर आंदोलन चलाएंगे। शुरुआत पहली मई से अलग-अलग स्थानों से होगी। अन्ना महाराष्ट्र के शिरडी से और बाबा रामदेव छत्तीसगढ़ के दुर्ग से जनजागरण यात्रा पर निकलेंगे। तीन जून को दोनों दिल्ली में एक दिन का अनशन करेंगे। उसके बाद फिर आर-पार का आंदोलन शुरू होगा, जो 2014 के लोकसभा चुनाव तक चलेगा।
शुक्रवार को यहां संयुक्त पत्रकार सम्मेलन में अन्ना हजारे और बाबा रामदेव ने आंदोलन की रूपरेखा की घोषणा की। दोनों ने गले मिलकर हर स्तर पर एकजुट होकर संघर्ष करने का संदेश दिया। अन्ना ने कहा कि वह पहली मई से महाराष्ट्र के सभी जिलों का दौरा करेंगे। वहां के लोगों को जन लोकपाल और काला धन के बारे में जागरूक करेंगे, बताएंगे कि किस प्रकार केंद्र सरकार बार-बार धोखा दे रही है। उन्होंने स्पष्ट किया कि उनका आंदोलन सरकार को गिराने के लिए नहीं है। फिर भी वह गिरे तो गिर जाए। उन्होंने कहा कि वे पूरे डेढ़ साल यानी अगले लोकसभा चुनाव तक पूरे देश में अलख जगाएंगे।
उन्होंने कहा कि केंद्र में जन लोकपाल और प्रदेश में सशक्त लोकायुक्त बनाना होगा। इसकी शुरुआत महाराष्ट्र से ही होगी। 26 अप्रैल को उनकी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एवं उपमुख्यमंत्री के साथ बैठक होने वाली है। उसके बाद वे अन्य दलों के नेताओं से भी मिलेंगे।
इस मौके पर बाबा रामदेव ने कहा कि कहा कि तीन जून को दिल्ली में सांकेतिक अनशन के बाद वे और अन्ना साथ-साथ कई जगहों की यात्रा करेंगे। अगस्त में आर-पार की लड़ाई शुरू होगी। आंदोलन में देश के सभी सामाजिक कार्यकर्ताओं को जोड़ा जाएगा। श्री श्री रविशंकर से इस बाबत बात हो चुकी है। अन्ना व बाबा ने दुग्ध उत्पादकों के आंदोलन को समर्थन देने के साथ ही कहा कि किसानों के लिए भी एक बड़ा आंदोलन छेड़ा जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

समर्थक